आईने से साफ , झलकने लगी है अब कांग्रेस की बेबसी ।

तख़्त और ताज तब तक आपके हांथो की कट पुतली बनी रहती है जब तक कि आप ताकतवर है। जनता ने कांग्रेस सत्ता को कुछेक समय तक अपने भविष्य को सौंपा। पर जब कांग्रेस सरकार ढीली पड़ी जनता ने अपना निर्णय बदल लिया। अब आलम कुछ यूं है कि बेबस और लाचार दिख रही है कांग्रेस सरकार। राजनीति की लगाम कांग्रेस के हाथ से पूर्णतया छुटती नजर आ रही है। जैसे बिते दिन संसद में देखने को भी मिला जब सरकार को घेरने का विपक्ष का दावा बेजान रहा। बिहार में महागठबंधन से अलग होकर जनता दल (एकी) नेता नीतीश कुमार का भाजपा के साथ सरकार बनाने और गुजरात में कांग्रेस के विधायकों की बगावत से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल के राज्यसभा की राह कठिन हो गई। इन घटनाओं से कांग्रेस को सदन में सांप सूंघ गया। शायद यह पहली बार था कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी की सदन में मौजूदगी के बाद भी सदन में कांग्रेस के गिनती के सदस्य नजर आए। कांग्रेस के छह सदस्यों के निलंबन के बाद भी लोकसभा में शांतिपूर्वक काम हुआ। शायद इसी वजह से प्रधानमंत्री संसद परिसर के अपने दफ्तर में मौजूद होने के बाद भी संसद में कम ही दिखे। वे तय कार्यक्रम के हिसाब से बुधवार को लोकसभा और गुरुवार को राज्यसभा में कुछ समय के लिए रहते हैं। लेकिन मामनसून सत्र में अबतक उन्होंने संसद में कुछ बोला नहीं है। इससे कांग्रेस की बिगड़ती स्तिथि का अंदाज़ा लगाया जा सकता है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s